परिश्रम: सूरज सा चमकने के लिए

Hindi Chhand

बिना परिश्रम कुछ पा सकता नहीं,आलस्य मानव को कभी आगे बढ़ा सकता नहीं। जहां सूरज की पहली किरण,निहारे नदी की धारा।बेहता है वहीं स्नेह और प्यार,भरा है जीवन सारा।

खिलखिलाती आशाएँ

Hindi Kavita

फूलों सी महकती जीवन की बागियां, संगीत सुनाती कलीयों की गाथा,भरे पेटलों में छुपी हुई उम्मीदें, हर बीज में नया आनंद छुपा।खुलते हैं फूल, हमें बतलाते हैं, कि हर अंत नई शुरुआत लेकर आता है,मुस्कान देता है फूल का कोमल स्वरूप, जीवन में खुशियों का संगीत गाता है।

एक नई सुबह के लिए जागृति: प्रगति की ओर यात्रा

Chhand in Hindi

सुबह की किरण बीते अंधेरे को छोड़, आयी अपना सन्देश ले,सपनों की रानी जाग उठी, खोयी खोयी आँखों में झिलमिलायी वो उम्मीद के बीज।हर्षित मन में खुशियों की लहरें लहराईं, नया सवेरा जीवन को स्वागत कहे,अब सोचो नहीं, नयी दिशाओं में बढ़ो, वक्त के साथ प्रगति के पथ पर चलो।