प्रकृति की महिमा – Hindi Kavita

Hindi Kavita

सूरज की किरणें चमक रहीं,प्रकृति ने बांधी है बहुत सजावट।फूलों की महक सबको भाती है,यहां खुशहाली हर कोई पाती है। चिड़ियों का गीत बज रहा है,फलों के पेड़ों में जोश है बढ़ रहा है।हरे-भरे रंगों से आसमान सजा है,खुशियों की लहरें सबको भा रही है। वन में रंगबिरंगे पक्षियों की भीड़ है,झूले पर झूल रही … Read more

जीवन की धारा – Hindi Kavita

Hindi Kavita

होल होल बहती धारा,चुपचाप बीत जाता संसार।हरियाली भरी क्षेत्रों में,खिलता हर मौसम प्यार। किरणें भरी सुनहरी धूप,चमकती उसकी हर धार।खिलते हैं फूलों के रंग,स्वर्ग सा लगता संसार। सुबह का ताजा सन्नाटा,दोपहर की कोमल धूप।शाम सा ठंडा समा,रात का चांद भी रूप। बहती हवा का हल्का झोंका,बचपन की वो झूल।हर पल महसूस करो,जीवन की है यही … Read more

जीवन की खुबसूरत यात्रा – Hindi Kavita

Hindi Kavita

नदी की धार में चुपचाप बहता जल,जीवन की यात्रा में हर क्षण सच्चा अनुभव होता। सूरज की पहली किरण से,रात की अंतिम चांदनी तक। यही तो है जीवन का संगीत,धुन हर पल बदलती रहती। हम सब यात्री हैं जीवन के,प्रत्येक दिन नया संघर्ष, नया खेल। पर हर संघर्ष से बढ़कर,हर खेल से महान होते हैं … Read more

प्रकृति के आँचल में खेलें – Hindi Kavita

Hindi Kavita

आओ चलें मिलकर वन में खेलें,प्रकृति के आँचल में खो जाएँ।हरा-भरा पेड़ और फूलों के मेले,मन को भर देंगे अनुभवों के खेले। पकड़ लो हाथ मेरे हाथों में,चलो खेले खुद को जीवन की रचना में।प्रकृति के संग मिलकर एक हों,सुख-दुःख के बंधनों से छूटें। हर एक पेड़ यह कहता है अपने आप से,जीवन अनमोल है, … Read more

जीवन की यात्रा: खुशी पाना सीखो

Hindi Kavita

आओ चलें हम संग-संग,मन की गहराईयों के रंग,जीवन की इस धराती पर,मिले हैं बहुत से संग। सूरज की पहली किरण,करती है सबका स्वागत,सपनों का संसार छोड़,आओ विचारों के संग। फूलों की खुशबू से,पर्वतों की उंचाई से,बहती हैं नदियाँ जिनसे,जीवन की ये सुंदरता। दूसरों की खुशी में,खुशी पाना सीखो,अपनी कमियों को सुधार,और अपने आप को बढ़ाना … Read more

सपनों की उड़ान: जीवन का लक्ष्य

Hindi Kavita

भोर की किरण बोल उठी,सुनो जगाने आई हूं मैं,सपनो की सारी दुनिया को,मैंने ही तो बनाया है। पंख लगाकर उड़ना सीखो,हिम्मत करके आजमाओ,हर कठिनाई, हर बाधा,समय के साथ मिट जाएगी। सूरज की तरह चमकना सीखो,अपने आप को पहचानो,जो तुम में है वो खोजो,अपनी पहचान बनाओ। सपने सच होंगे जरूर,अगर सच्ची हो चाह,जीने की खुशी तुम्हें … Read more

ज़िन्दगी की बहार – Hindi Kavita

Hindi Kavita

बसंत के आगमन की राह जगमगाती है,प्रकृति ने आवाज़ उठाई, सबको जगाती है। सर-सर बहती हवा लहरा कर आती है,मन को रंगीन ख़बर सुनाकर मुस्काती है। पुष्पों की माला गले में सजा लो,गाते हुए नये गीत सुना लो। माँ धरती अपने सीने से खेला खेलती है,हर नगर-नगर, गांव-गांव में उत्साह फैलती है। पंछी आज़ादी का … Read more

आगे चलो – Hindi Kavita

Hindi Kavita

ज़िन्दगी की राह में आगे चलो,पीछे मुड़ कर न देखो, आगे चलो। हर रोज़ नयी उम्मीद लेकर आगे बढ़ो,ख्वाबों की परवाज़ को बढ़ाकर आगे चलो। मंज़िलों की खुशियों को चुनो और चलो,आसमान को छूकर ज़मीन पे लहराकर आगे चलो। हार न मानो, हो जाओ निराश न कभी,चमको और रौशनी से राह बनाकर आगे चलो। संघर्षों … Read more

बहार का स्वागत – Hindi Kavita

Hindi Kavita

भारी ठंडक के बाद,आती है वो खुशनुमा बहार।फूल खिलते हैं हर तरफ,लगता है जैसे हो कोई त्योहार। बहार आती है, ले के साथहरियाली और नवीनता का प्यार।बच्चों की हंसी, पक्षियों की गीत,मन भर देता है आनंद से बेहिसाब प्यार। बहार का मौसम, जीवन को देता नई उमंग,हर दिल को भर देता खुशियों से अंग।हम सब … Read more

सौंधी धरा: एक कविता – Hindi Kavita

Hindi Kavita

ये दिन बहुत सुनहरे हैं,मनोहारी सुरभित बहारे हैं।प्रकृति की गोद में सुख का उद्गार है,जीवन की राह पर अपार हैं। चिड़ियों की चहचहाहट गुनगुनाती है,हरियाली की छाया छाती है।धरती की गोद में फलों की बगीचा है,मन को भरने की खुशियों का आधार है। सूरज की किरणें नभ को छू रही हैं,काव्य के स्वर आकर्षित कर … Read more