राजा, मंत्री और मुरमुरे का रहस्य

एक राज्य में एक बुद्धिमान राजा रहता था। उसका एक मंत्री था जो चतुर था। मंत्री और राजा का भरोसेमंद सारथि था। उन्होंने न्याय और देखभाल के साथ राज्य पर शासन किया।

एक दिन राज्य में एक चोर चोरी करने लगा। लोग चिंतित थे और उन्होंने राजा से मदद मांगी। राजा ने अपने लोगों को चोर को पकड़ने का आश्वासन दिया। उन्होंने इस मुद्दे पर अपने मंत्री से चर्चा की।

मंत्री जी को मुरमुरे का उपयोग करने का विचार आया। उन्होंने कहा, ”हम मुरमुरे का इस्तेमाल चोर का पता लगाने के लिए कर सकते हैं.” राजा को उत्सुकता हुई और उसने मंत्री से व्याख्या करने को कहा।

मंत्री ने कहा, “हम महल में दावत की घोषणा करेंगे। हम राज्य में सभी को आमंत्रित करेंगे। प्रत्येक अतिथि को मुरमुरे का एक थैला मिलेगा।”

मंत्री ने कहा, “उन्हें एक सप्ताह के बाद थैला वापस लाना होगा। जो थैला हल्का होगा वह चोर होगा।” राजा को यह विचार पसंद आया और वह योजना के लिए सहमत हो गया।

सभी को निमंत्रण भेजा गया था। दावत भव्य थी और सभी को मुरमुरे का एक थैला मिला। लोग खुश हुए और दावत के बाद महल छोड़ दिया।

चोर भी दावत में शामिल हुआ था। उसके पास मुरमुरे का एक थैला भी मिला। उसने राजा और मंत्री को बरगलाने की एक योजना सोची।

उन्होंने मुरमुरे को सफेद चने से बदलने का फैसला किया। उसने सोचा कि वजन वही रहेगा। लेकिन वह मंत्री की असली योजना नहीं जानता था।

एक हफ्ते बाद सब अपना-अपना थैला ले आए। मंत्री जी ने थैला चेक करना शुरू किया। जब उन्होंने चोर के थैले की जांच की तो उन्हें मुरमुरे की जगह सफेद चने मिले।

मंत्री ने घोषणा की, “हमें चोर मिल गया है।” सब चौंक गए और चोर की तरफ देखने लगे। चोर चौंक गया और पूछा कि उन्हें कैसे पता चला।

मंत्री ने समझाया, “मुरमुरा नमी को सोख लेता है और भारी हो जाता है। जिस थैले का वजन नहीं बढ़ा वह चोर का था।” चोर को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

राजा और उनके मंत्री ने चतुराई से समस्या का समाधान किया। लोगों को राहत मिली और उन्होंने अपने राजा और मंत्री की प्रशंसा की। वे उस दिन से राज्य में शांति से रहने लगे।

This Hindi Story Says To Kids That:

कहानी का नैतिक: “चतुर सोच बड़ी समस्याओं को हल कर सकती है।”

Image Credit: https://www.newstrend.news/252230/handsome-king-mantri-motivational-story-moral/

Leave a comment