पैसे की रोशनी और लालच की लपटें

एक दिन एक बच्चा अपने पिता से कहता है, “पापा, आप हमेशा कहते हो की पैसों की ‘चमक’ हमेशा ‘लपट’ में डाल देती है। लेकिन मैंने कभी नहीं देखा कि पैसे ‘जपट’ करते हैं। क्या यह सच है?”

पिता हँसते हुए कहते हैं, “बेटा, यह सच नहीं है कि पैसे ‘जपट’ करते हैं। लेकिन जो उन्हें ‘जपट’ लेता है, वही उनकी ‘चमक’ की ‘लपट’ में आ जाता है।”

Leave a comment